टेस्ला इलेक्ट्रिक कार कैसे काम करती है ?

टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है

टेस्ला इलेक्ट्रिक कार कैसे काम करती है ?

आज के इस आर्टिकल में हम आपको टेस्ला इलेक्ट्रिक कार के बारे में बताने जा रहे है | टेस्ला इलेक्ट्रिक कार कैसे काम करती है ? टेस्ला इलेक्ट्रिक कार की बैटरी, फीचर , मॉडल आदि की जानकारी आपको देने का प्रयास करेंगे साथ ही इस आर्टिकल में हम आपको टेस्ला मॉडल S के पीछे की टेक्नोलॉजी के बारे में बताएँगे, इसकी कुछ रोचक जानकारियों से भी हम आपको अवगत कराएँगे|

टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है
टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है

इलेक्ट्रिक कारें ऑटोमोबाइल की दुनिया में बड़े बदलाव कर रही है हमें उम्मीद है कि धव्नि प्रदुषण मुक्त और तेज़ व प्रदुषण मुक्त रहित वाहन वाले यह वाहन 2025 तक आईसी इंजन वाले वाहनों को आउटडेटेड बना देंगे | जो हाल ही में दुनिया की सबसे तेज इलेक्ट्रिक पिकअप रेटिंग कार बन गई थी हम तार्किक रूप से और विभिन्न चरणों में देखेंगे कि इलेक्ट्रिक कारों ने –

  • इंडक्शन मोटर
  • इनवर्टर
  • लिथियम आयन बैटरी
  • पावर श्रोत

और सबसे बड़ा सिंक्रोनाइज वाहन तंत्र के पीछे की टेक्नोलॉजी का विश्लेषण करके कैसे बेहतर प्रदर्शन हासिल किया है | टेस्ला कार का पावर हाउस इंडक्शन मोटर होता है जो करीब 100 साल पहले महान वैज्ञानिक निकोला टेस्ला द्वारा बनाया गया एक आविष्कार है स्टेटर और रूट इंडक्शन मोटर के 2 मुख्य भाग होते हैं – रोटर एंड रिंग

  • रोटर एंड रिंग के द्वारा कंडक्टिंग बोर्ड शॉर्ट सर्किट का संग्रह होता है|
  • स्टेटर को 3 से एसी पावर इनपुट दिया जाता है|
  • कोइल में थ्री फेज एसी करंट रोटेटिंग मैग्नेटिक फील्ड उत्पन्न करता है|
  • टेस्ला मोटर एक 4 ध्रुव मैग्नेटिक उत्पन्न करती है|
  • फिर यह रोटेटिंग मैग्नेटिक फील्ड रूटर बोरस को घुमाने के लिए इसमें करंट उत्पन्न करता है|
  • इंडक्शन मोटर मोटर हमेशा आरएमएस के पीछे होता है|
  • इंडक्शन मोटर में ब्रश और अस्थाई चुंबक दोनों ही नहीं होते हैं साथ ही यह मजबूत और शक्तिशाली होती है|
  • इंडक्शन मोटर की खास बात यह है कि इसकी गति एसी बिजली की आपूर्ति की फ्रीक्वेंसी पर निर्भर करती है इसलिए केवल बिजली की आपूर्ति की फ्रीक्वेंसी को बदलकर हम गाड़ी के पहियों की गति को बदल सकेंगे|
  • यह साधारण तथ्य इलेक्ट्रिक कार की गति के नियंत्रण को आसान और विश्वसनीय बनाता है मोटर को आपूर्ति एक परिवर्तनशील फ्रिकवेंसी ड्राइव से होती है जो मोटर की गति को नियंत्रित करती है मोटर की गति 0 से 18000 आरपीएम तक हो सकती है|
  • इंटरनल कॉम्बस्शन इंजन पर आधारित कारों की तुलना में यह इलेक्ट्रिक कारें सबसे अधिक लाभदायक है एक इंटरनल कॉम्बस्शन इंजन केवल एक सीमित गति सीमा के भीतर ही उपयोगी टॉर्क और पावर उत्पन्न करता है|
  • इसलिए पहियों को सीधे ही इंजन रोटेशन से जोड़ना एक उचित विचार नहीं है
  • पहियों की गति को बदलने के लिए एक ट्रांसमिशन लगाया जाना चाहिए दूसरी ओर एक इंडक्शन मोटर किसी भी गति सीमा में बेहतर काम करेगी|

टेस्ला ट्रांसमिशन

टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है
टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है

इस प्रकार किसी इलेक्ट्रिक कार के लिए अलग-अलग गति के ट्रांसमिशन की आवश्यकता नहीं है | इसके अलावा एक आईसी इंजन प्रत्यक्ष घूर्णन गति को उत्पन्न नहीं करता है पिस्टन की रैखिक गति को घूर्णन गति में परिवर्तित किया जाना है | यह यांत्रिक संतुलन के लिए बड़ी समस्याएं पैदा करता है इंटरनल कॉम्बस्शन इंजन एक इंडक्शन मोटर की तरह है सेल्फ स्टार्ट नहीं है इसके अलावा एक आईसी का पावर आउटपुट हमेशा असमान होता है इस समस्या के समाधान के लिए कई अन्य उपकरणों की आवश्यकता होती है|

टेस्ला इंडक्शन मोटर

दूसरी तरफ एक इंडक्शन मोटर के साथ आप को प्रत्यक्ष घूर्णन गति और एक समान पावर आउटपुट मिल सकेगा आईसी इंजन में उपयोग होने वाले कई पार्ट से यहां बचा जा सकता है इन सब के परिणाम स्वरुप उच्च प्रतिक्रिया दर और पावर टू वेट अनुपात इंडक्शन मोटर में स्वाभाविक रूप से उपलब्ध है जिससे वाहन बेहतर प्रदर्शन करते हैं|

लेकिन मोटर को पावर कहां से प्राप्त होती है

यह एक बैटरी पैक से मिलती है | बैटरी डीसी पावर उत्पन्न करती है इसलिए मोटर को आपूर्ति करने से पहले इसे इसी में परिवर्तित करना पड़ता है इसके लिए एक इनवर्टर का उपयोग किया जाता है यह पावर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस एसी पावर फ्रिकवेंसी को भी नियंत्रित करता है इसलिए मोटर की गति को नियंत्रित करता है इसके अलावा इनवर्टर एसी पावर के एंप्लीट्यूड को भी बदल सकता है | जो मोटर पावर आउटपुट को नियंत्रित करेगा इस प्रकार इनवर्टर इलेक्ट्रिक कार के मस्तिष्क के रूप में कार्य करता है|

टेस्ला मोटर कार का बैटरी पैक

टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है
टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि यह केवल कॉमन लिथियम आयन सेल का एक कलेक्शन है जो हम अपने दैनिक जीवन में इस्तेमाल करते हैं सेल सीरीज और पैनल के संयोजन में जुड़े रहते हैं | और आपकी इलेक्ट्रिक कार को चलाने के लिए आवश्यक पावर उत्पन्न करते हैं सेलो के बीच में अंदरूनी ट्यूबों के माध्यम से लुब्रीकेंट शीतलक गुजरता है | यह टेस्ला का एक प्रमुख नवाचार है कुछ बड़े शहरों के स्थान पर कई छोटे सालों का उपयोग करके प्रभावी शीतलन निश्चित रूप से मिलता है यह थर्मल हॉटस्पॉट को कम करता है और यहां तक कि तापमान वितरण भी हासिल करता है जिससे बैटरी पैक का जीवन बढ़ जाता है|

टेस्ला सेल का मॉड्यूल

सेल को इस तरह व्यवस्थित किया जाता है कि जरूरत पड़ने पर इस मॉड्यूल को अलग अलग किया जा सके बैटरी पैक में 16 ऐसे मॉड्यूल है जिसमें लगभग 7000 साल है | गर्म ग्लाइकोल एक रेडिएटर से गुजर कर ठंडा होता है जो वाहन में आगे स्थित होता है इसके अलावा आप देख सकते हैं कि कम ऊंचाई वाला बैटरी पैक जमीनी स्तर के करीब लगाए जाने पर वाहन के गुरुत्व क्षण केंद्र को नीचे कर देगा गुरुत्वाकर्षण केंद्र के नीचे आने से कार की स्थिरता में काफी सुधार होता है बड़े बैटरी पैक का विस्तार पूरे फर्श पर भी है जो साइड टकराव के खिलाफ संचारात्मक कठोरता, फ्लेक्सिबिलिटी और सेफ्टी प्रदान करता है|

टेस्ला का ड्रिवेट ट्रैन

गियर बॉक्स के माध्यम से मोटर की पावर को पहियों तक पहुंचाया जाता है जैसा कि पहले चर्चा हो चुकी है टेस्ला मॉडल S सरल और सिंगल स्पीड ट्रांसमिशन का उपयोग करता है| क्योंकि मोटर ऑपरेटिंग कंडीशन की एक विस्तृत रेंज में कुशलता से काम करती है|

मोटर के आउटपुट की गति दो चरणों में कम हो गई है यहां तक कि एक इलेक्ट्रिक कार में रिवर्स गियर लगाना काफी आसान है बस इसके लिए फेस के क्रम को बदलना होता है|

  • इलेक्ट्रिक का ट्रांसमिशन का उद्देश्य की गति में कमी लाना और संबंधित और को बढ़ाना होता है|
  • गियर बॉक्स का दूसरा भाग डिफरेंशियल होता है घटी हुई गति की ड्राइवर से होकर गुजरती है|

यह एक सिंपल ओपन डिफरेंशियल है हालांकि ओपन डिप्रेशन में टायर का रोड के साथ घर्षण नियंत्रण की समस्या आती है|

टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है
टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है

एक ऐसी एडवांस कार लिमिटेड स्लिप डिफरेंशियल के बजाय एक ओपन डिफरेंशियल का उपयोग क्यों करती है?

इसका जवाब यह है कि ओपन डिफरेंशियल अधिक खुरदुरा है और अधिक तर्क बनाए रख सकता है | ओपन डिफरेंशियल में टायर का रोड के साथ घर्षण नियंत्रण की जो समस्या आती है उसे दो प्रभावी तरीकों सिलेक्टिव ब्रेकिंग और पावर की आपूर्ति को रोककर दूर किया जा सकता है एक इंटरनल कॉम्बस्शन इंजन में ईंधन की आपूर्ति रोक कर पावर की आपूर्ति रोक ना उतना अच्छे से काम नहीं करता है जबकि एक इंडक्शन मोटर में ईंधन की आपूर्ति रोक कर पावर की आपूर्ति रोक ना बेहतर काम करता है और घर्षण का नियंत्रण प्राप्त करने के लिए यह एक बेहतर साधन है | टेस्ला कार में यह सभी सेंसर और नियंत्रक ओं की सहायता से स्टेट ऑफ आर्ट एल्गोरिथ्म का उपयोग करके पूरा किया जा सकता है|

संक्षेप में समझे –

टेस्ला मोटर्स ने एक जटिल मैकेनिकल हार्डवेयर सिस्टम को स्मार्ट और बेहतर सॉफ्टवेयर से बदल दिया है|

क्या आपको पता है कि इलेक्ट्रिक कार को सिर्फ एक पैडल की सहायता से चलाया जा सकता है?

यह इसकी शक्तिशाली रीजेनरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम के कारण संभव हुआ है इसका मतलब है कि बिना ऊष्मा के बाहर निकाल एक कार की सारी गतिज ऊर्जा को बिजली के रूप से संचित कर दिया जाता है एक इलेक्ट्रिक कार में जैसे ही आप एस्केलेटर छोड़ते हैं रीजेनरेटिव ब्रेकिंग काम करना शुरू कर देता है|

टेस्ला की रीजेनरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम

टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है
टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है

दिलचस्प बात यह है कि रीजेनरेटिव ब्रेकिंग के दौरान वही इंडक्शन मोटर जेनरेटर के रूप में कार्य करती है यहां पहिए इंडक्शन मोटर के रोटर को चलाते हैं मोटर को जेनरेटर में बदलने के लिए आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि रूटर की गति आरएमएस की गति से अधिक हो इनपुट पावर फ्रिकवेंसी को समायोजित करने और आरएमएस की गति को रोटर की गति से नीचे बनाए रखने में इनवर्टर एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है यह स्टेटर कॉल में बिजली उत्पन्न करेगा जो आपूर्ति की गई बिजली से बहुत अधिक होती है रूपांतरण के बाद उत्पन्न हुई बिजली को बैटरी पैक में संरक्षित रखा जा सकता है इस प्रक्रिया के दौरान रोटर पर एक विपरीत विद्युत चुंबकीय बल कार्य करता है इसलिए पहिए और कार्य में हो जाएंगे इस तरह से चलते हुए वाहन की गति को एक पेडल का इस्तेमाल करके बेहतर तरीके से नियंत्रित किया जा सकता है|  पूरी तरह से रोकने के लिए ब्रेक पेडल का उपयोग किया जा सकता है हो सकता है |

आप पहले से ही जानते होंगे की इलेक्ट्रिक कार आंतरिक आईसी कारों की तुलना में अधिक सुरक्षित है इलेक्ट्रिक कार का रखरखाव और इसमें आने वाली लागत एक आईसी इंजन कार की तुलना में बहुत कम होती है | बेहतर तकनीक आने के साथ इलेक्ट्रिक कार की कमियां दूर हो जाएंगी और भविष्य में इलेक्ट्रिक कार सबसे बेहतर कारों में से एक होगी | जैसे जैसे समय गुजरेगा इलेक्ट्रिक कारो का मार्किट अपनी रफ़्तार पकड़ेगा | बहुत सी कारे मार्किट में होने की वजह से कारे सस्ती हो जाएंगी और उनमे बहुत से सुधार होंगे |

कृपया अपने दोस्तों के साथ इस आर्टिकल को शेयर करें|

टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है
टेस्ला-इलेक्ट्रिक-कार-कैसे-काम-करती-है

FAQ

Q : टेस्ला कार की खासियत

Ans : टेस्ला बहुत ही एडवांस कार है और इसमें बहुत सी खासियत है | जो एक खासियत है वो इस कार को सबसे अलग बनती है वो है इसकी सेल्फ ड्राइविंग मोड ( ये कार अपने आप बिना ड्राइवर के भी चल सकती है )

Q: टेस्ला कार एक बार चार्ज होने पर कितना चलती है?

Ans : टेस्ला कार की रेंज 600 किलो मीटर की है ( लगभग ) | टेस्ला में बहुत से मॉडल आते है और उन सबकी रेंज अलग अलग है| 

Q: टेस्ला की सबसे सस्ती कार

Ans : टेस्ला की एक बहुत ही फेमस कार्स है ‘मॉडल 3’ | मॉडल 3 एक छोटी, सिम्पल और अफोर्डबल इलेक्ट्रिक कार है। ये टेस्ला की सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक कार है और इसकी कीमत लगभग  22 लाख 45 हजार रुपये है।

Read also:

James Webb स्पेस टेलीस्कोप क्या है ?

Scroll to Top
Copy link
Powered by Social Snap